Banner22

ग्रीन इंडिया युथ वूमेन सोसाइटी

ग्रीन इंडिया युथ वूमेन सोसाइटी की स्थापना मार्च 2018 में हुई | यह सोसायटी पंजीकरण अधिनियम 21/1860 के तहत पंजीकृत किया गया

सोसाइटी का नारा है :-

" बढ़ायें एक कदम...

             स्वच्छता की ओर " 

ग्रीन इंडिया युथ वूमेन सोसाइटी सामाजिक कार्यकर्ताओं की एक टीम द्वारा स्थापित किया गया संस्था है, जो स्वास्थ्य, शिक्षा, महिलाओं और बाल विकास को सशक्त बनाने के क्षेत्र में काम कर रही है।

GREEN INDIA YOUTH WOMEN SOCIETY PROTECTION PROJECT

"महिला स्वास्थ्य सुरक्षा परियोजना " A Yojana For : Women Health Protection

  • Women Health Protection Fact :
    हमारा उद्देश्य किसी धर्म विशेष नहीं मासिक सत्र जैसे इस कुदरती घटना को समाज में स्वीकृति दिलाना है|
  • Menstrual Cycle in Women(महिलाओं में माहवारी चक्र) :

माहवारी चक्र 12 साल से 16 साल की लड़कियों में होने वाला हार्मोनिक बदलाव है|

  • Menstrual Cycle Time (माहवारी चक्र का समय) :

मासिक चक्र सामान्यतः 22 से 32 दिनों में एक बार होता है हालांकि मासिक चक्र का समय 3 से 5 दिन का होता है|

  • Menstrual Cycle Related Problems (मासिक धर्म से संबंधित समस्याएं) : 

हर महीने में महिलाओं को मासिक चक्र से गुजरना पड़ता है और इस समय खुद को सुरक्षित रखने के लिए सावधानियां बरतनी पड़ती है, मासिक चक्र के दौरान साफ सफाई का ध्यान रखने से आप कई तरह की बीमारियों जैसे UI (Uterus Infection) और इंफेक्शन से बच सकती हैं ज्यादातर महिलाएं इस समस्या से परेशान रहती हैं कुछ जानकारी के अभाव में और कुछ शर्म के कारण इस समस्या से जूझती है|

ऐसा अक्सर देखा गया है कि संसाधनों की कमी, शिक्षा और व्यक्तिगत स्वच्छता के बारे में जागरूकता की कमी, स्वच्छता उत्पादों के बारे में जानकारी न होने के कारण इन महिलाओं के साथ ऐसी स्त्री रोग की समस्याएं बहुत ज्यादा हो रही है | यहां तक कि वे अपने मासिक धर्म के बारे में भी किसी से कोई बातचीत नहीं करती है | इन सब कमियों के कारण उन्हें लगातार श्वेत प्रदर,गर्भाशय के मुंह का कैंसर, बांझपन जैसी भयंकर और कठिन बीमारियों को अपने गले लगाना पड़ता है|

  • Solution (सुझाव) : महावारी से होने वाली समस्या का समाधान Sanitary Pad (Freeपल) फ्री पल सेनेटरी पैड (Freeपल) इस्तेमाल न करने से बीमारियां हो सकती है जो महिलाओं के लिए हानिकारक है|
  • Aim(उद्देश्य) :

बिहार के सभी जिलों एवं प्रखंडों में खुलेंगे GREEN INDIA PAD BANK
GREEN INDIA YOUTH WOMEN SOCIETY प्रखंड स्तरों पर GREEN INDIA PAD BANK फ्रेंचाइजी की स्थापना करने जा रही है, संस्था का मुख्य उद्देश्य सस्ते एवं किफायती दरों पर फ्रीपल पैड का वितरण करना एवं महिलाओं को सशक्त बनाना, उन्हें सही दिशा में शिक्षा, स्वास्थ्य संबंधी जानकारी, स्वच्छता एवं रोजगार के मुख्यधारा से जोड़ने का काम कर रही है|

Do you want to open Green India Pad Bank ?

These are the benefits.

Low Investment.

More income.

Become a Social Worker.

buchchi_freepal

WHO WE ARE ?

ग्रीन इंडिया युथ वूमेन सोसाइटी एक गैर सरकारी संस्था है जो महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए समर्पित है। यह संस्था महिलाओं को पीड़ित करने वाली बीमारियों के खिलाफ अपनी लड़ाई में लगातार सक्रिय रही है, चाहे वह स्वच्छता , महिला शिक्षा या लगातार लैंगिक असमानता हो। ग्रीन इंडिया युथ वूमेन सोसाइटी द्वारा महिलाओं तथा बेटियों को आत्मनिर्भर बनाने की पहल के तहत लागू किए गए कुछ कार्यक्रम निम्नलिखित हैं:

  • बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, बेटी को सक्षम बनाओ अभियान
  • ग्रीन इंडिया सैनिटरी पैड का मुफ्त वितरण सरकारी विद्यालयों में ।
  • ग्रीन इंडिया पैड बैंक की स्थापना।
  • स्वच्छता संबंधी स्वच्छता को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न जागरूकता कार्यक्रम।

What people say about it

ग्रीन इंडिया युथ वूमेन सोसाइटी के द्वारा चलाये जा रहे अभियान - " बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ " बहुत ही सराहनीय है |

WhatsApp Image 2020-09-08 at 18.10.55

प्रदीप ठाकुर
प्रदेश प्रवक्ता
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ प्रकोष्ठ

Our Upcoming Projects

PAPAD MAKING

Papad Making help the women in entrepreneur.

AGARBATTI MAKING

Agarbatti Making help the women in entrepreneur.

Mithila Painting

Mithila Painting making help the women in entrepreneur.

Free Schooling

Free schooling for all upto 5th class.

Need help? Book a call at a time to suit you

TopBack to Top